“खान”, “मंगोल”, “मुसलमान” और “सनातन धर्म” के बीच संबंध(Relations among “Khan”,”Mangol”,”Musalman”and “Sanatan Dharm”)

ये एक ऐसा सम्बन्ध है जो शायद हम में से बहुत लोग नहीं जानते है| लेकिन जानना चाहिए| मंगोलिआ का इतिहास कही ना कही हिंदुस्तान के इतिहास से संबंध रखता है| बहुत सारी ऐसी बाते है जो सोचने पर आप को मजबूर कर देगी कि क्या मंगोलिआ का इतिहास वैदिक धर्म से जुड़ा है|
मंगोलिआ में गंगा शब्द को बहुत ही आदर से लिया जाता है जैसे हिंदुस्तान में है| वहां दरिगंगा नाम कि नदी है जिसको वे गंगा के समान ही मानते है बहुत सारे उनके सांस्कृतिक गीत में गंगा शब्द का इस्तेमाल होता है| यहाँ तक कि उनके ऐतिहासिक किताबो में गंगा को हिमालय कि पवित्र नदी बताया गया है|

मंगोलिआ में यिन और येन दो देवताओ कि पूजा होती है| काफी अध्धयन के बाद पता चला कि यिन और येन, शिव और शक्ति के ही नाम है जिसको मंगोलिआ के लोग बहुत श्रद्धा से पूजते है|

खान शब्द का मतलब मंगोलियन में “शेर” या “सरदार” है जिसको योद्धा या प्रमुख के लिए उपयोग में लाया जाता है| ये शब्द ना तो इस्लामिक ना अरेबिक ना ही पर्शियन है| अब समझते है कि खान शब्द मुसलमानो ने कैसे इस्तेमाल में लाया|ये कहानी शुरू होती है चंगेज़ खान से|

चंगेज़ खान एक तांत्रिक था और वो भी यिन और येन कि पूजा करता था| जब वो जीतते हुए मध्य पूर्व एशिया में पंहुचा तो उसने मुसलमानो के ऊपर जो क्रूरता दिखाई वैसा आज तक किसी ने नहीं दिखाई| बहुत सारे मुस्लिमो ने मंगोलो से बचने के लिए अपने नाम के आगे खान शब्द प्रयोग करने लगे क्यों कि उस समय के लेखकों के अनुसार मुसलमानो में खान शब्द का बहुत डर था और खान शब्द को वे बहादुर योद्धा से जोड़ते थे| कुछ मुसलमानो ने अपने नाम में खान शब्द का इस्तेमाल समाज में खौफ के बनाने के लिए करने लगे और धीरे-धीरे ये शब्द मुसलमानो में बहुत प्रसिद्ध हो गया और खानो को इज़्ज़त मिलने लगी|

खान शब्द मंगोलो से चुराया हुआ शब्द है जो आज कल मुसलमानो में बहुत प्रसिद्ध है| इस तरह सनातन धर्म, मंगोल, मुसलमान और खान में एक सम्बन्ध भी है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *