Everything About MISS WORLD 2017 Manushi Chhillar

मानुषी छिल्लर के बारे में संक्षेप जानकारी-

मानुषी छिल्लर सोनीपत, हरयाणा के जाट परिवार से आती है| आप के पिता का नाम डॉ. मित्र बासु छिल्लर है जो DRDO में वैज्ञानिक है और माँ का नाम डॉ. नीलम छिल्लर है जो कि Institute of Human Behavior and Allied Sciences में एक प्रोफेसर है| मानुषी कि उम्र 20 साल है और आप भगत फूल सिंह मेडिकल कॉलेज से मेडिकल कि पढाई कर रही है|

मिस वर्ल्ड 2017 बनने तक कि कहानी- Read more “Everything About MISS WORLD 2017 Manushi Chhillar”

Science VS Spirituality (Sanatan Religion): A Deep Analysis

Image source
अगर हम विज्ञान और अध्यात्म कि बात करेंगे तो कई सारे प्रश्न चिन्ह विज्ञान पर और कई सारे प्रश्न चिन्ह अध्यात्म पर खड़े हो जाएंगे लेकिन आज मैं जो विश्लेषण करने जा रहा हूँ वो बहुत अनोखा और अलग है| आप को भी मजा आएगा|

आज के समय कि शिक्षा व्यवस्था ज्यादातर विज्ञान के इर्द-गिर्द घूमती है Read more “Science VS Spirituality (Sanatan Religion): A Deep Analysis”

Does History repeat itself? Have we learnt anything yet from it? History,Sanatan,Caste,Padmavati…

कहा जाता है कि इतिहास या भूतकाल से बड़ा गुरु कोई नहीं होता है मतलब आप जो भी गलतियां करते हो उसी से ज्यादा सीखने को मिलता है या सीखना चाहिए| इसी लिए अनुभव को सबसे बड़ा गुरु बताया गया है| लेकिन क्या सनातन धर्म के लोग इतिहास से कुछ सिख रहे है? क्या हमारे पुरखो ने जो गलतियां कि है उससे हमने कुछ सीखा है? Read more “Does History repeat itself? Have we learnt anything yet from it? History,Sanatan,Caste,Padmavati…”

A big lie about discovery of India taught to us in school book. Let’s know about truth.

Image source

भारत का आधुनिक शिक्षा प्रणाली ब्रिटिश शिक्षा प्रणाली से प्रेरित है इसी लिए हमारे देश के किताबो में बहुत कुछ गलत पढ़ाया जाता है| उनमे से सबसे बड़ा झूठ यह पढ़ाया जाता है कि हिंदुस्तान कि खोज वास्को डा गामा ने सन 1498 में कालीकट पहुंच कर कि थी|

चलिए जानते है कि तार्किक सच्चाई क्या है? Read more “A big lie about discovery of India taught to us in school book. Let’s know about truth.”

An interesting story behind acquisition of Land Rover and Jaguar by Tata Motors

Image source

टाटा मोटर्स ने 30 दिसंबर 1998 को पहली पैसेंजर कार “टाटा इंडिका” लांच किया जो कि पहला शुद्ध भारतीय कार थी जिसको पूर्ण रूप से भारत में बनाया गया था| लेकिन जब ये कार लांच हुई तो उसके एक साल के अंदर ही यह पूरी तरह से असफल हो गई और टाटा समूह को अपने इतिहास कि पहली कंपनी बेचने के लिए मजबूर होना पड़ा| काफी प्रयास के बाद फोर्ड मोटर के चेयरमैन बिल फोर्ड ने टाटा मोटर्स के पैसेंजर प्लांट को खरीदने में रूचि दिखाई और मुलाकात के लिए मुंबई पहुंचे| Read more “An interesting story behind acquisition of Land Rover and Jaguar by Tata Motors”